Raj Bhasha

 

 Official language

CLICK HERE TO DOWNLOAD HINDI TIMAHI PERFORMA IN DOC FORMAT IN HINDI

CLICK HERE TO DOWNLOAD VARSHIK KARYA YOJNA PERFORMA IN PDF

Hindi language-related links

 

Constitutional Provisions

Part of the official language of the Constitution of India - 17

Chapter 1 Association of Language

Article 120 . the language used in Parliament - (1 ) Part 17 Notwithstanding anything in , but Article 348 Subject to the provisions of , business in Parliament in Hindi or in English

परंतु , यथास्थिति , राज्य सभा का सभापति या लोक सभा का अध्यक्ष अथवा उस रूप में कार्य करने वाला व्यक्ति किसी सदस्य को , जो हिंदी में या अंग्रेजी में अपनी पर्याप्त अभिव्यक्ति नहीं कर सकता है , अपनी मातृ-भाषा में सदन को संबोधित करने की अनुज्ञा will give.

(2 ) जब तक संसद् विधि द्वारा अन्यथा उपबंध न करे तब तक इस संविधान के प्रारंभ से पंद्रह वर्ष की अवधि की समा प्ति के पश्चात् यह अनुच्छेद ऐसे प्रभावी होगा मानो “ या अंग्रेजी में ” शब्दों का उसमें से लोप कर दिया गया हो ।

Article 210: V Rice - Language to be used on the Board - (1 ) Part 17 Notwithstanding anything in , but Article 348 Subject to the provisions , the state legislature to act in the state's official language or languages or Hindi or in English

परंतु , यथास्थिति , विधान सभा का अध्यक्ष या विधान परिषद् का सभापति अथवा उस रूप में कार्य करने वाला व्यक्ति किसी सदस्य को , जो पूर्वोक्त भाषाओं में से किसी भाषा में अपनी पर्याप्त अभिव्यक्ति नहीं कर सकता है , अपनी मातृभाषा में सदन को संबोधित करने की अनुज्ञा will give.

(2 ) the state legislature otherwise provides by law until a period of fifteen years from the commencement of this Constitution contained the Pti after this Article shall have effect as such " or in English " words omitted from the have been :

Himachal Pradesh , Manipur , Meghalaya and Tripura State Legislature - Chambers in respect of , this clause shall have effect in the " fifteen years " the words " five years " were substituted the words :

Provided further that Arunachal Pradesh , Goa and Mizoram State Legislature - this clause shall have effect in relation to the divisions beneath it , " fifteen years " the words " forty years " were substituted the word.

Article 343 . Union's official language -

() the official language of the Union shall be Hindi in Devanagari script , to be used for official purposes of the Union as the points will be the international form of Indian numerals.

(2 ) खंड (1 ) में किसी बात के होते हुए भी , इस संविधान के प्रारंभ से पंद्रह वर्ष की अवधि तक संघ के उन सभी शासकीय प्रयोजनों के लिए अंग्रेजी भाषा का प्रयोग किया जाता रहेगा जिनके लिए उसका ऐसे प्रारंभ से ठीक पहले प्रयोग किया was going :

परन्तु राष्ट्रपति उक्त अवधि के दौरान , आदेश द्वारा , संघ के शासकीय प्रयोजनों में से किसी के लिए अंग्रेजी भाषा के अतिरिक्त हिंदी भाषा का और भारतीय अंकों के अंतर्राष्ट्रीय रूप के अतिरिक्त देवनागरी रूप का प्रयोग प्राधिकृत कर सकेगा।

(3 ) Notwithstanding anything in this article , the fifteen-year period after the Parliament , by law

( a) the English language , or

( b) the Devanagari form of numerals ,

Used for such purposes as may be specified in such law may provide.

Article 344 . Commission and Committee of Parliament on official language -

() राष्ट्रपति , इस संविधान के प्रारंभ से पांच वर्ष की समा प्ति पर और तत्पश्चात् ऐसे प्रारंभ से दस वर्ष की समा प्ति पर ,आदेश द्वारा , एक आयोग गठित करेगा जो एक अध्यक्ष और आठवीं अनुसूची में विनिर्दिष्ट विभिन्न भाषाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले ऐसे The President may appoint other members who shall consist of and the procedure to be followed in order by the Commission Prini Shcit said.

(2 ) The Commission shall be the duty of the President -

( a) the progressive use of Hindi for official purposes of the Union ;

( b) all or any of the Union restrictions on the use of the English language for official purposes ;

( c) Article 348 mentioned in the language to be used for all or any purposes ,

( d) one or more of the Union to be used for specified purposes such as points ,

ड़) संघ की राजभाषा तथा संघ और किसी राज्य के बीच या एक राज्य और दूसरे राज्य के बीच पत्रादि की भाषा और उनके प्रयोग के संबंध में राष्ट्रपति द्वारा आयोग को निर्देशित किए गए किसी अन्य विषय , के बारे में सिफारिश करे।

(3 ) Clause (2 ) subject to its recommendations , the Commission to the industrial , cultural and scientific advancement and public services in relation to non-Hindi speaking people will take due regard of the legitimate claims and interests.

() एक समिति गठित की जाएगी जो तीस सदस्यों से मिलकर बनेगी जिनमें से बीस लोक सभा के सदस्य होंगे और दस राज्य सभा के सदस्य होंगे जो क्रमशः लोक सभा के सदस्यों और राज्य सभा के सदस्यों द्वारा आनुपातिक प्रतिनिधित्व पद्धति के अनुसार एकल संक्रमणीय मत द्वारा be elected.

() The Committee shall be the duty of clause (1 The Commission constituted under the President to examine and give their opinion about the report.

(6 ) अनुच्छेद 343 में किसी बात के होते हुए भी , राष्ट्रपति खंड (5 ) में निर्दिष्ट प्रतिवेदन पर विचार करने के पश्चात् उस संपूर्ण प्रतिवेदन के या उसके किसी भाग के अनुसार निदेश दे सकेगा।

Chapter 2 - Regional Languages

Article 345 . Official language or languages ​​of the State -

Article 346 and Article 347 Subject to the provisions of , any State legislature , by law , the state used one or more languages ​​or the languages ​​of Hindi for official purposes all or any of the state language or languages ​​to be used as adopted Skega

परंतु जब तक राज्य का विधान-मंडल , विधि द्वारा , अन्यथा उपबंध न करे तब तक राज्य के भीतर उन शासकीय प्रयोजनों के लिए अंग्रेजी भाषा का प्रयोग किया जाता रहेगा जिनके लिए उसका इस संविधान के प्रारंभ से ठीक पहले प्रयोग किया जा रहा था।

Article 346 . Between a State and another or between a State and the Union official language for communication -

संघ में शासकीय प्रयोजनों के लिए प्रयोग किए जाने के लिए तत्समय प्राधिकृत भाषा , एक राज्य और दूसरे राज्य के बीच तथा किसी राज्य और संघ के बीच पत्रादि की राजभाषा होगी :

परंतु यदि दो या अधिक राज्य यह करार करते हैं कि उन राज्यों के बीच पत्रादि की राजभाषा हिंदी भाषा होगी तो ऐसे पत्रादि के लिए उस भाषा का प्रयोग किया जा सकेगा।

Article 347 .

यदि इस निमित्त मांग किए जाने पर राष्ट्रपति का यह समाधान हो जाता है कि किसी राज्य की जनसंख्या का पर्याप्त भाग यह चाहता है कि उसके द्वारा बोली जाने वाली भाषा को राज्य द्वारा मान्यता दी जाए तो वह निदेश दे सकेगा कि ऐसी भाषा को भी उस राज्य Universal or any part thereof for such purpose ,he may specify , to be given official recognition.

Chapter 3 - The Supreme Court , High Courts etc. Language

Article 348 . Supreme Court and High Courts and the Acts , Bills, etc. to be used for language -

(1 ) Notwithstanding anything in the foregoing provisions of this part, too , until Parliament by law otherwise 
provides, until -

( a) All proceedings in the Supreme Court and every High Court shall be in language ,

( b) (i each House of Parliament or a state legislature to be introduced in the House or each House Bills or proposed to be all their modifications ,

(Ii Parliament or a state legislature and all Acts passed by all Ordinances promulgated by the President or Governor of a State , and 
(iii 
under this Constitution or Parliament or a state legislature created a all orders issued or made ​​under a law , rules ,regulations and bye-laws , shall be in the English language.

(2 ) of clause ( 1 ) of subdivision ( a) Notwithstanding anything in , the Governor of a State High Court in the proceedings of the previous consent of the President , whose main location is in that state , or the state of the Hindi language to be used for official purposes to authorize the use of any other language Skega

Nothing in this clause by the High Court from any judgment , decree or order shall apply.

(3 ) Volume (1 ) of subdivision ( b) Notwithstanding anything in , where a state legislature said , the legislation - passed by the Legislature or Acts or Ordinances promulgated by the Governor of the State में अथवा उस उपखंड के पैरा (iv ) में निर्दिष्ट किसी आदेशनियम , विनियम या उपविधि में प्रयोग के लिए अंग्रेजी भाषा से भिन्न कोई भाषा विहित की है वहां उस राज्य के राजपत्र में उस राज्य के राज्यपाल के प्राधिकार से प्रकाशित अंग्रेजी भाषा में उसका translation of the English language under this article shall be deemed the authoritative text.

Article 349 . Special procedure for enactment of certain laws relating to language -

इस संविधान के प्रारंभ से पंद्रह वर्ष की अवधि के दौरान , अनुच्छेद 348 के खंड (1 ) में उल्लिखित किसी प्रयोजन के लिए प्रयोग की जाने वाली भाषा के लिए उपबंध करने वाला कोई विधेयक या संशोधन संसद के किसी सदन में राष्ट्रपति की पूर्व मंजूरी के बिना पुरःस्थापित या प्रस्तावित नहीं किया जाएगा और राष्ट्रपति किसी ऐसे विधेयक को पुरःस्थापित या किसी ऐसे संशोधन को प्रस्तावित किए जाने की मंजूरी अनुच्छेद 344 के खंड (1 ) के अधीन गठित आयोग की सिफारिशों पर और उस अनुच्छेद के खंड (4 ) के अधीन गठित समिति के will, after consideration of the report , not otherwise.

Chapter 4 - Special directions

अनुच्छेद 350. व्यथा के निवारण के लिए अभ्यावेदन में प्रयोग की जाने वाली भाषा--

प्रत्येक व्यक्ति किसी व्यथा के निवारण के लिए संघ या राज्य के किसी अधिकारी या प्राधिकारी को , यथास्थिति , संघ में या राज्य में प्रयोग होने वाली किसी भाषा में अभ्यावेदन देने का हकदार होगा।

अनुच्छेद 350 क. प्राथमिक स्तर पर मातृभाषा में शिक्षा की सुविधाएं--

प्रत्येक राज्य और राज्य के भीतर प्रत्येक स्थानीय प्राधिकारी भाषाई अल्पसंख्यक-वर्गों के बालकों को शिक्षा के प्राथमिक स्तर पर मातृभाषा में शिक्षा की पर्याप्त सुविधाओं की व्यवस्था करने का प्रयास करेगा और राष्ट्रपति किसी राज्य को ऐसे निदेश दे सकेगा जो वह ऐसी सुविधाओं का उपबंध सुनि श्चित considers necessary or appropriate to make.

अनुच्छेद 350 ख. भाषाई अल्पसंख्यक-वर्गों के लिए विशेष अधिकारी--

() linguistic minority - classes will be a Special Officer appointed by the President.

() shall be the duty of the Special Officer for linguistic minorities under this Constitution - sections to investigate all matters relating to the safeguards provided in respect of those matters at such intervals as the President referred to , will report to the President and the President All such reports to be laid before each House of Parliament and sent to the Government of the States concerned.

अनुच्छेद 351. हिंदी भाषा के विकास के लिए निदेश--

संघ का यह कर्तव्य होगा कि वह हिंदी भाषा का प्रसार बढ़ाए , उसका विकास करे जिससे वह भारत की सामासिक संस्कृति के सभी तत्वों की अभिव्यक्ति का माध्यम बन सके और उसकी प्रकृति में हस्तक्षेप किए बिना हिंदुस्थानी में और आठवीं अनुसूची में विनिर्दिष्ट भारत की अन्य भाषाओं में प्रयुक्त रूप , शैली और पदों को आत्मसात करते हुए और जहां आवश्यक या वांछनीय हो वहां उसके शब्द-भंडार के लिए मुख्यतः संस्कृत से और गौणतः अन्य भाषाओं से शब्द ग्रहण करते हुए उसकी समृद्धि सुनि श्चित करे।

 

 

 

Hindi language-related links